HPV VACCINE IN INDIA

HPV VACCINE IN INDIA HPV

Sharing is caring!

HPV VACCINE IN INDIA

INDIA में HPV VACCINE को लेकर नई मूवमेंट चालू हो गई है।

HPV का FULL FORM क्या है

HPV को ह्यूमन पेपिलोमा वायरस कहा जाता है. अगर आपने इस वायरस के कोई टेस्ट के लिए है तो आपके लक्षण कई मामले में कम हो सकते हैं. इन टेस्ट का क्या उपयोग होता है उसके संबंध में काम चालू है उसके लिए आय-शेयर यह संस्था काम करती है.

भारत में गर्भाशय और मुख के कैंसर से हर 8 मिनट में एक महिला का मृत्यु होता है.

Types of HVP VIRUS

Human Papilloma Virus जय विषाणु पुरुष और महिला दोनों मैं Cervical, Anal, Vaginal, Vulver और Oropharyngeal इन प्रकार के कैंसर का प्रमुख कारण होते हैं.

HPV VIRUS मैं माने जाने वाले कुल प्रजाति में से कोई प्रजाति कम घातक होती है और कुछ प्रजाति काफी धोकादायक होती हैं इस प्रकार कौन से वायरस की आपको बाधा हुई है उससे कैंसर का अनुमान लगाया जाता है.

India Raks 2th Position HPV Virus Around the World

HPV VIRUS से Cervical Cancer यानी के गर्भाशय का मुख्य द्वार का रोग इंडिया में इस रोगों को महिलाओं में ज्यादा पाया जाता है और दुनिया में भारत का दूसरा नंबर है.इंडिया में हर साल इस केस के 1 लाख से भी ज्यादा मामले उभर कर आते हैं उसमें से 60% महिलाओं का मृत्यु होने के कैसे दर्ज है.

इसका मतलब यह है कि इंडिया में 8 सेकंड में हर एक स्त्री का HPV VIRUS से मृत्यु होती है. लेकिन गौर करने की बात यह है कि ऑस्ट्रेलिया जैसे देश में इस बीमारी का नामोनिशान होने के कगार पर है. अमेरिका में इस रोगों को जिन महिलाओं को इस इस वायरस के शिकार हुई है उनकी औसत आयु 5 साल से भी ज्यादा होती है यानी के 5 ईयर सरवर रेट 92% है वही इंडिया में औसत दर 47% इतना है.

इस कैंसर का इलाज होता है (प्रीवेंटेबल कैंसर) और उससे मृत्यु की संभावना भी कम हो सकती है.

HPV VIRUS दूर कैसे रहा जा सकता है

पौगंडावस्था में लड़कियों में HPV लसीकरण करना प्रौढ़ महिलाओं में इस वायरस के टेस्ट लेना इन दोनों चीज की आपने किया है तो इस कैंसर से बचा जा सकता है. WHO ने कई उद्दिष्ट यहां पर बताए हैं जो 2030 तक पूरे होने के चांसेस है. WHO कहां है कि जो भी 15 साल की लड़कियां है उनको इस वायरस का लसीकरण देना जरूरी है. 35 उम्र और 45 उम्र की महिलाओं में एक्यूरेट टेस्ट करना जरूरी है.

गर्भाशय से संबंधित महिलाओं को यह टेक्स्ट करना अनिवार्य है. अगर इंडिया की बात की जाए तो इस लसीकरण का प्रमाण 1% से भी कम है. इसकी टेस्ट में 5 परसेंट से भी कम देखी जाती है. यानी कि इसका मतलब होता है पूरे देश में 45.3 महिला अपनी लसीकरण की एज को क्रॉस कर चुकी है और उन्हें गर्भाशय के वायरस होने के क्या सोच काफी हद तक ज्यादा होते हैं.

अगर आपको HPV VIRUS की बाधा हुई है तो इसका मतलब यह नहीं आप को कैंसर हुआ है लेकिन आपको सावधानी बरतनी होगी अगर आप ऐसा नहीं करते तो 20 25 साल में आपको कैंसर होने के काफी ज्यादा चांसेस होते हैं.

HPV VIRUS TEST

Pap Smear, L.B.C, V.I.A और HPV Testing by DNA इन जैसे टेस्ट मार्केट में उपलब्ध है. इसमें से HPV Testing by DNA को ज्यादा निश्चित तौर पर एक्यूरेट माना जाता है. इन टेस्ट की वजह से दुनिया में महिलाओं को HPV कैंसर से छुटकारा मिल सकता है.

HPV TEST COST

जिस भी डेवलपमेंट कंट्री में यह सेवाएं उपलब्ध करवाने से पहले इसमें इंक्रीमेंटल कॉस्ट और इफेक्टिवेनेस रेशों (ICR) निष्कर्ष लिया जाता है और उसके ही अनुमानित कॉस्ट लगाया जाता है इसे (ICR COST) कहां जाता है.

HPV VACCINE IN INDIA

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!